Saturday, July 18, 2009

चलो इस मौसम में

चलो इस मौसम में
बादलों को छूने चलें हम
ठंडी हवा के तेज़ झोंको में
कटी पतंग से उड़ने चले हम
यूँ तो हम तुम में हैं फांसले बहुत
चलो आँखें बंद करो
यूही कही दूर निकल चलें हम